जम्भेश्वर मंदिर भीमसागर प्राण प्रतिस्ठा समारोह का समापन उमड़ा जन सैलाब

जम्भेश्वर मंदिर प्राण प्रतिष्ठा एवं कलश स्थापना समारोह पीपासर नगर,भीमसागर में आचार्य स्वामी भागीरथदास जी के सानिध्य में यज्ञ व मंत्रोउच्चारण के साथ प्रातः काल हवन के साथ प्रारम्भ हुआ। समाज के सभी भक्त गणों ने यज्ञ में आहुति दी।

 

पिछले 7 दिनों से श्रीमद्भागवत कथा का ज्ञान यज्ञ, कथावाचक श्री शिवज्योतिशानन्द जी की मधुर वाणी से भक्तजनों को कथा का रस पान करवाया। भागवत के अंतिम दिन संध्या जागरण का आयोजन किया गया जिसमे में समाज के मधुर वाणी के धनी गायक कलाकरो श्री राजेंद्रानंद(राजू),सचिदानंद जी व अन्य प्रसिद्ध गायक कलाकार उपस्थित थे।

मंदिर की निर्माण कार्य पिछले 5 वर्षों से चल रहा था,जो कि आज दिनांक 13-मई-2018 को समाज व भामाशाहों से सम्पन्न हुआ।

कलश स्थापना प्रातः 11:15 बजे स्वामी भागीरथदास जी आचार्य के कर कमलो द्वारा सम्पन्न हुआ व मुकाम महंत राजेंद्रानंद जी,जाम्भा के महंत प्रेमदास जी व अन्य संत समाज के आशीर्वाद से मंदिर प्राण प्रतिस्ठा सामारोह सम्पन्न हुवा।

मंदिर प्रांगण में धर्म सभा का आयोजित हुवा जिसमे स्वामी भागीरथदास जी ने उद्धबोधन में कहा वर्तमान समय मे युवा नशीले पदार्थ के आदि हो रहे है , इन सब से दूर रहे और समाज के विकाश में भागीदार बने । उद्धबोधन की अगली कड़ी में स्वामी शिवज्योतिशानन्द ने कहा समाज व भीमसागर गाँव मे भव्य मंदिर बनकार तैयार हुवा है जो कि समाज मे अनुकूल असर पड़े।

समाचार- महिपाल व सागर