महिला उत्थान के दावे खोखले-रेनुका बिश्नोई

(मुकेश सामराऊ न्युज नेटवर्क)

-जुलाना में महिला सम्मेलन में बोली कांग्रेस विधायक-

 

जुलाना, 23 मार्च: हांसी की विधायक रेनुका बिश्नोई ने कहा कि आज हरियाणा में महिलाओं की स्थिति बहुत ही भयावह है। गांवों में महिलाओं की शिक्षा, सुरक्षा, रोजगार के पुख्ता इंतजाम नहीं हैं। बहुत से गांवों में लड़कियों को स्कूल जाने के लिए घंटों की दूरी तय करनी पड़ती है। लड़की जब तक घर लौट कर नहीं आती परिवार वाले चिंतित रहते हैं। कई परिवार तो सुरक्षा के लिहाज से अपनी बेटियों को दूर के स्कूलों में भेजने से भी कतराते हैं। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि महिलाओं और बेटियों को सुरक्षात्मक माहौल न मिलना भी राज्य में बढ़ते लिंगानुपात की प्रमुख वजह है। महिला उत्थान को लेकर प्रदेश सरकार के दावे सिर्फ दावे तक ही सीमित है। राज्य सरकार के किसी कदम से ऐसा नहीं लगा कि वह महिलाओं को लेकर गंभीर है। सिर्फ कहने मात्र से कुछ नहीं होता। प्रदेश में महिलाओं के साथ बलात्कार, छेड़छाड़ जैसी घटनाएं बढ़ रही हैं। यह प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सबसे बड़ा सवाल है। वे आज स्थानीय परशुराम धर्मशाला में उड़ान वैल्फेयर फाउंडेशन द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में उपस्थित महिलाओं को संबोधित कर रही थी। इस दौरान उन्होंने फाउंडेशन से जुड़े सभी सदस्यों का मान सम्मान के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि शहीदी दिवस पर अमर शहीदों को याद करते हुए कहा कि सभी को उन वीर शहीदों को नमन करना चाहिए, जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति देकर हमें आजादी दिलवाई। उन्हीं की बदौलत आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं।

विधायक ने उड़ान वैल्फेयर फाउंडेशन के सदस्यों को समाजसेवा की दिशा में बेहतरनी कार्य के लिए बधाई देते हुए कहा कि समाज के वंचित छात्रों, महिलाओं को रोजगार दिलाने, गरीब लड़कियों की शिक्षा में सहयोग करने, खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाने तथा अपने-अपने क्षेत्रों में बेहतरीन कार्य करने वाले लोगों की मदद के लिए आप हमेशा तैयार रहते हैं। 21वीं सदी में हमारा देश विभिन्न क्षेत्रों में उन्नति कर रहा है। महिलाएं आगे बढ़ रही हैं और गांवों, ढाणियों, छोटे शहरों से आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बच्चे राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी विलक्षण प्रतिभा दिखा रहे हैं। हरियाणा खेलों में सदैव ही अग्रणी रहा है और अगर सरकार खिलाडिय़ों को बेहतरीन माहौल तथा उचित संसाधन उपलब्ध करवाए तो राज्य से और अधिक प्रतिभाएं राष्ट्रीय स्तर पर उभर सकती हैं, परंतु यह देखकर दुख होता है कि इस दिशा में सरकार का रवैया उदासीन ही रहा है। प्रदेश सरकार ख्ेाल व खिलाडिय़ों की बात तो करती है, लेकिन गांवों, सरकारी स्कूलों, छोटे शहरों में खेलों के लिए अनुकूल माहौल तैयार करने में विफल ही रही है। ऐसे में जब उड़ान वैल्फेयर एसोसिएशन जैसी संस्थाएं आगे आकर खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाती है तो बहुत ही खुशी होती है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में बेटी बचाओ-बहु लाओ जैसी बहुत बड़ी-बड़ी बातें पोस्टरों में बैनरों में लिखी हुई पढऩे को मिल जाएंगी पर यहां स्थिति इससे एकदम उलट रहती है। हरियाणा के विभिन्न शहरों में बड़े अक्षरों में बाहर लिखा रहता है कि यहां गर्भ परीक्षण नहीं होता पर पीछे के दरवाजे से ऐसे परीक्षण होते ही रहते हैं और बेटियों को गर्भ में ही मारने की नई-नई पद्धतियां भी बहुत बड़े पैमाने में उपलब्ध रहती हैं, क्योंकि जब से विज्ञान ने प्रगति की है तब से गर्भपात करवाना आसान और अधिक भी होने लगा है। 21वीं सदी में जहां हम खुद को हाईटेक और मॉडर्न बताते हैं, पर वहीं बेटी के जन्म होने पर खुद को एक दम से गंवार घोषित करने से भी नहीं रूकते। आज के वक्त में भी मां की कोख ही अपनी बेटी के लिए कब्रिस्तान बन चुकी है और किसी भी घर में हो रहे भू्रण हत्या के लिए उस घर की महिलाओं की भागीदारी सबसे अधिक होती है। इन सब बुराईयों से हमें लडऩा होगा। महिलाओं को अपने आपको मजबूत करना होगा। उन्होंने कहा कि राजनीति से जुड़ा होने के चलते उन्हें जहां भी अवसर मिलता है वे हर मंच से महिलाओं के हकों की आवाज उठाती हैं। विधानसभा में कई बार उन्होंने मुख्यमंत्री जी से भी राज्य में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार पर सवाल किया और उनसे पूछा कि क्या कारण है हरियाणा में महिलाओं की स्थिति किसी भी अन्य प्रदेश से बदतर है। महिलाओं को साक्षर एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए छोटा सा प्रयास भी बहुत बड़ा माना जाता है। उन्होंने आहवान किया कि अपने गांव, अपने शहर, अपने मौहल्ले में सामाजिक संस्थाएं खोलिए और एकजुट होकर सामाजिक बुराईयों से लडि़ए तभी हम मजबूत समाज और मजबूत देश, प्रदेश का निर्माण कर सकते हैं। महिलाओं से उन्होंने आह्वान किया कि बेटियों को पढ़ाइए, आत्मनिर्भर बनाइए और आगे बढऩे के लिए पे्ररित कीजिए तथा अत्याचार सहने की बजाय उससे लडि़ए तभी हम उन्नत, सुरक्षित समाज और विकसित हरियाणा का सपना साकार कर सकते हैं। इस दौरान वेल्फेयर फाउंडेशन एसोसिएशन के विनोद दलाल, रणधीर सिंह पनिहार, कमल सिंह,विशाल छोटा ,सचिन रधाना,जावेद सिंघाना आदि उपस्थित थे।

MAHILA 'YTHAAN KE VAADE KKHARIJ.jpg

Updated: March 24, 2018 — 6:44 pm
बिश्नोई समाचार © 2018 Designed by SAGAR BISHNOI