योगी आदित्यनाथ की कहानी केसे बने अजय सिंह से आदित्यनाथ

image credit dnaindia.com

योगी आदित्यनाथ का प्रारम्भिक जीवन व शिक्षा

योगी आदित्यनाथ  का जन्म 5 जून 1972 में उतराखंड के पोड़ी गढ़वाल जिले की तहसील यमकेश्वर में पंचुर गाँव में हुआ. योगी आदित्यनाथ के पिता  का नाम आनंद सिंह बिष्ट हैं जो की एक फारेस्ट रेंजर हुआ करते थे  योगी आदित्यनाथ की माँ का नाम सावित्री देवी हैं एवं योगी के 7 भाई बहिन हैं योगी के 3 बड़ी बहिने एवं 1 बड़ा भाई हैं ये ५वे नंबर पर हैं एवं इनके 2 छोटे भाई और भी हैं

योगी ने एपीआई पढाई की सुरुआत १९७७ में टिहरी के गज में स्थानीय स्कूल से सुरु की योगी ने अपनी दसवी तक की पढाई १९८७ में उतीर्ण कर ली

 

योगी आदित्यानाथ ने अपननी 12 की पढाई श्री भरत मंदिर अन्तर कॉलेज से करी  योगी आदित्यनाथ ने १९९० में ग्रेजुएसन की पढाई करते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिसद से जुड़े

योगी आदित्यनाथ ने १९९२ में श्रीनगर के हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविध्यालय से गणित विषय में बीएससी की परीक्षा पास कर ली

और विशेष व्यक्तित्व के यहाँ पढ़े 

योगी आदित्यनाथ जब कोटद्वार में रह रहे थे तब उनके कमरे में से सामान चोरी हो जाने के कर्ण उनके कइ डॉक्यूमेंट चोरी हो गये उसके बाद उनका स्नातकोतर की पढाई करने में असफल रहे योगी आदित्यनाथ जब १९९३ में एमएससी की पढाई के दौरान गौरखपुर आये एवम गौरखपुर में प्रवाश के दौरान योगी आदित्यनाथ महंत अवेद्यनाथ के संपर्क में आये जो की पूर्व में योगी के परिवार व योगी आधित्य्नाथ स्वयम से सुपरिचित थे  अंतत योगी आदित्यनाथ मेहनत की शरण में चले गये जिसके बाद इनका नाम अजय सिंह बिष्ट से योगी आदित्यनाथ हो गया

जब महंत अवेद्यनाथ का निधन हुआ तो योगी को गोरखनाथ मंदिर का महंत बनाया गया तत्पश्चात इन्हें मंदिर का पिथादिश्वेर बना दिया गया

 

योगी आदित्यनाथ का राजनीती में आगमन :-

सबसे पहले योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लादे और जीत हासिल करी उस वक्त योगी की उम्र केवल 26 वर्ष रही होगी योगी 12 लोक सभा के सबसे युवा सांसद हुवा करते थे

उसके बाद योगी ने १९९९  में फिर से चुनाव लडे फिर योगी आदित्यनाथ ने २००४ में एक बार फिर चुनाव में जीत हासिल करी यह योगी की तीसरी जीत थी , २००९ में योगी ने करीब 2 लाख मतो से जीत हासिल करी और फिर पांचवी बार योगी ने २०१४ में चुनाव लादे एवं फिर संसद पहुंचे ,

19 मार्च २०१७ में बीजेपी  विधयक डाल की बैठक में आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया

योगी आदित्यनाथ ने अप्रेल 2002 हिन्दू युवा वाहिनी बनायीं 

और अधिक व्यक्तित्व पढने के लिए बने रहे हमारे साथ

image credits – dnaindia